Sri Ganesh Girwardhari Sanskrit College, Bakhtiyarpur, Patna

आवश्यक सूचना:- सभी छात्र/छात्राओं को सूचित किया जाता है कि महविद्यालय में ७५% उपस्थिति अनिवार्य है । अन्यथा परीक्षा से बंचित हो सकते है।

नामांकन सूचना:- सभी छात्र/छात्राओं को सूचित किया जाता है कि चतुर्वर्षीय शास्त्री सत्र-२०२३-२७ में नामांकन हेतु दिनांक ०३-१०-२०२३ से १०-१०-२०२०३ तक अंतिम रूप से विस्तारित किया जाता है।

WELCOME TO SRI GANESH GIRWARDHARI SANSKRIT COLLEGE

यह महाविद्यालय अपने अतीत बैभवशाली गौरव इतिहास को अक्षुण्ण रखते हुए संस्कृत के विद्वानों एवं संस्कृतानुरागी छात्रों के लिए अध्ययन - अध्यापन का केंद्र रहा है। अपने स्थापना काल से ही यह महाविद्यालय संस्कृत के प्रचार - प्रसार में अपना विशिष्ठ स्थान रखता है। महाविद्यालय के संस्थापक प्राचार्य स्व० डॉ कमलेश मिश्रा अपनी विद्वता एवं प्रशाशनिक क्षमता से महाविद्यालय को उच्चतम शिखर पर स्थापित करने का प्रयास किया। उसी परंपरा का निर्वहन करते हुए डॉ० बालमुकुन्द मिश्र ने अपने कार्यकाल में निर्बाध रूप से कर रहे हैं।............

Principal's Message


 
डॉ० बालमुकुन्द मिश्र, प्रधानाचार्य

संस्कृत शिक्षा के प्रचार – प्रसार के उद्देश्य से श्री गणेश गिरवरधारी संस्कृत महाविद्यालय की स्थापना की गयी । इस महविद्यालय की स्थापना का मूल उद्देश्य संस्कृत वांगमय का प्रचार प्रसार ही था । बिहार सरकार द्वारा टोल विद्यालयों के वर्गीकरण के......

Vice Chancellor's Message


 
प्रो० लक्ष्मी निवास पाण्डेय, कुलपति महोदय

यह महाविद्यालय गुणवतापूर्ण शिक्षण द्वारा शिक्षा के उच्चतम शिखर पर पहुँचने के लिए सतत् प्रयत्नशील है | पठन-पाठन के अतिरिक्त छात्रों के सर्वांगीण विकास हेतु सांस्कृतिक गतिविधि, खेलकूद, पर्यावरण के प्रति जागरूकता, स्वच्छता अभियान आदि से सम्बंधित कार्यकर्मों के द्वारा ..........